सार्वजनिक स्वच्छता पर निबंध हिंदी में।

   सार्वजनिक स्वच्छता एवं आरोग्य पर निबंध हिंदी में।

    आजकल के समय में निबंध लिखना एक महत्वपूर्ण विषय बन चुका है, खासतौर से छात्रों के लिए। ऐसे कई अवसर आते हैं, जब आपको विभिन्न विषयों पर निबंधों की आवश्यकता होती है। निबंधों के इसी महत्व को ध्यान में रखते हुए हमने इन निबंधों को तैयार किया है। हमारे द्वारा तैयार किये गये निबंध बहुत ही क्रमबद्ध तथा सरल हैं और हमारे वेबसाइट पर छोटे तथा बड़े दोनो प्रकार की शब्द सीमाओं के निबंध उपलब्ध हैं।

   अपने गाँव या क्षेत्र में व्यक्तिगत स्वच्छता बनाए रखता है।सार्वजनिक स्वच्छता एवं आरोग्य|•  हम अपने घर और यार्ड को साफ रखने की पूरी कोशिश करते हैं।  लेकिन साथ ही हम अपने घरेलू कचरे को कहीं भी फेंक देते हैं।  कचरा डिब्बे सार्वजनिक स्थानों पर रखे जाते हैं, लेकिन अगर हम अपना कचरा उस डिब्बे में डालते हैं तो हमें कोई चिंता नहीं है।  कई मण्डली टहलने के लिए बाहर जाती हैं।  वहां से वापस जाते समय, वे इतनी रगड़ छोड़ते हैं कि यात्रा का स्थान सुखद न होकर गंदा दिखता है।  आसपास खाली बोतलें, प्लास्टिक बैग, पेपर प्लेट, स्क्रैप पेपर पड़े हैं। 

(सार्वजनिक स्वच्छता एवं आरोग्य पर निबंध हिंदी में।)

       Sarvajanik savachhtaरेलवे, बसों आदि जैसे सार्वजनिक परिवहन में यात्रा करते समय, कई लोग ट्रेन में फलियां खाते हैं और ट्रेन में टर्फ फेंकते हैं।  जो लोग केले के छिलके, कार में नारंगी के छिलके या खिड़की के बाहर फेंकते हैं उन्हें सार्वजनिक स्वच्छता की जानकारी नहीं होती है।



         नगर निगम के लोग जो डिब्बे में कूड़ा डालते हैं वे समय पर कूड़ा नहीं उठाते हैं।  कचरे या कुत्ते, सूअर आदि की तलाश में गरीब बच्चे भोजन की तलाश में कचरा फैलाते हैं, इसलिए सार्वजनिक स्वास्थ्य अक्सर खतरे में रहता है।  हमारे देश में लोगों को तम्बाकू, विदा आदि खाने का मन करेगा।  धूम्रपान की बहुत गंदी आदत है।  इस तरह के धुएं से कई बीमारियां फैलती हैं। 

        गांव में जलस्रोत सार्वजनिक हैं।  स्नान, कपड़े धोना, मवेशी धोना जैसी सभी गतिविधियाँ जहाँ पीने के पानी से भरी जाएँगी, वहाँ पानी कैसे साफ रहेगा?  इससे सार्वजनिक स्वास्थ्य को खतरा है।

      सड़क पर भोजन तैयार करना, उसे वहां और लोगों द्वारा बेचनावहां खाना आजकल मानदंड बन गया है।  एक सार्वजनिक स्थान पर इस तरह के भोजन केंद्र के साथ, कूड़े वहाँ चारों ओर बढ़ता है।  मक्खियों, नृत्य करने वाले कीड़े पैदा होते हैं और भोजन पर फ़ीड करते हैं।  ऐसे खुले भोजन का सेवन करना रोग के कीटाणुओं को न्यौता देना है।  यह एक स्वास्थ्य जोखिम पैदा करने की अधिक संभावना है।  

      हमारे देश के चर्चों को इस बारे में जागरूक होने की जरूरत है।  विदेशों में देश का दौरा करने वाले लोग एक साफ और सुंदर शहर के लिए जोर देने लगे हैं।  सार्वजनिक जागरूकता तभी प्राप्त की जा सकती है जब यह जागरूकता समाज के सभी वर्गों तक पहुँचे।   

Comments

Popular posts from this blog

शैक्षिक भ्रमण और छात्र पर निबंध हिंदी में

अनाथालय की मेरी यात्रा

What is youth power india ? How to make money from youth power india- Complete youth power india Review 2021

🏏खेलों का महत्व और लाभ🏆(The importance and benefits of sports)

भ्रष्टाचार पर छोटे-बड़े निबंध (Short and Long Essay on Corruption in Hindi)